दिल्ली उच्च न्यायालय ने दीपिका पादुकोण के '82°E' ब्रांड के साथ ट्रेडमार्क उल्लंघन मामले में 'लोटस हर्बल्स' के खिलाफ अंतरिम निषेधाज्ञा को खारिज कर दिया

न्यायाधीश सी. हरिशंकर ने मामले की योग्यता को खारिज करते हुए उत्पाद मूल्य निर्धारण और उपस्थिति में महत्वपूर्ण अंतर पर प्रकाश डाला।"

3. "कानूनी लड़ाई के बीच, अदालत ने दोनों ब्रांडों के बीच सामान्य तत्व 'कमल' को स्वीकार किया है

न्यायालय इस बात पर जोर देता है कि उपभोक्ता विशिष्ट विशेषताओं के आधार पर 'लोटस स्प्लैश' और लोटस परिवार के उत्पादों के बीच अंतर कर सकते हैं

अदालत ने स्थायी निषेधाज्ञा की मांग को यह कहते हुए खारिज कर दिया कि दोनों ब्रांडों में 'लोटस' का प्राथमिक उपयोग भ्रम को रोकता है

लोटस हर्बल्स ने DPKA यूनिवर्सल कंज्यूमर वेंचर्स के स्वामित्व वाले '82°E' ब्रांड में 'लोटस' के उपयोग पर स्थायी प्रतिबंध लगाने की मांग की

अंतरिम निषेधाज्ञा याचिका को यह कहते हुए खारिज कर दिया गया कि 'लोटस स्पलैश' और '82°E' का संयोजन उपभोक्ताओं के लिए व्यावहारिक रूप से संभव नहीं है

लोटस हर्बल्स ने जोर देकर कहा कि 'लोटस' चिह्न उनके ब्रांड के लिए विशिष्ट होना चाहिए, लेकिन अदालत ने स्थायी प्रतिबंध के खिलाफ फैसला सुनाया