Odisha Train Accident 2023

Odisha Train Accident 2023

Odisha Train Accident 2023 कटक। ओडिशा के बालासोर में हुए भीषण ट्रेन हादसे में 270 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई। वहीं करीब 1000 लोग घायल हो गए। इस ट्रेन हादसे ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया था. मौके से जो तस्वीरें सामने आई हैं वो बेहद डरावनी थीं। हालांकि करीब 51 घंटे के बाद फिर से ट्रैक पर ट्रेनों की आवाजाही शुरू हो गई। इस हादसे में कई ऐसी जिंदगियां भी थीं, जिनके बचने की कहानियां काफी मार्मिक हैं. ऐसी ही एक कहानी दस साल के बच्चे की है, जिसकी जान बड़ी मुश्किल से बची।

बालासोर के भोगराई का दस वर्षीय देवाशीष पात्रा बहनागा बाजार में ट्रेन दुर्घटना के बाद सात शवों के नीचे फंस गया था। उसके माथे और चेहरे पर कई चोट के निशान थे। शनिवार को ग्रामीणों की मदद से उसके बड़े भाई ने उसे बचा लिया। पांचवीं कक्षा के छात्र देबाशीष का एससीबी मेडिकल कॉलेज और अस्पताल के सर्जरी विभाग में इलाज चल रहा है। वह शुक्रवार को कोरोमंडल एक्सप्रेस से परिवार के सदस्यों के साथ भद्रक जा रहा था।

Odisha Train Accident 2023

जोरदार धमाका

देबाशीष ने द टाइम्स ऑफ इंडिया को बताया, “मेरे पिता ने भद्रक के लिए कोरोमंडल एक्सप्रेस में टिकट बुक किया था, जहां चाचा और चाची हमें लेने के लिए इंतजार कर रहे थे। वहां से हमने पुरी जाने का प्लान बनाया। मेरे पिता, माता और बड़े भाई ने यात्रा की योजना बनाई थी और सभी मेरे साथ यात्रा कर रहे थे।

आगे उन्होंने बताया, “शुक्रवार शाम बालासोर से ट्रेन छूटने के कुछ मिनट बाद मैं अपनी मां के पास बैठा था और अचानक एक जोरदार धमाका हुआ, उसके बाद एक जोरदार झटका लगा और सब कुछ अंधेरा हो गया. मैं होश खो बैठा। जब मैंने अपनी आंखें खोलीं, तो मैं भयानक दर्द में था और लाशों के ढेर के नीचे फंसा हुआ था।’ 10वीं कक्षा का छात्र उसका बड़ा भाई शुभाशीष घोर अंधेरे में उसे खोजता रहा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *